विद्या किसे कहते हैं?

सा विद्या या विमुक्तये
विद्या वह है कि जो मुक्ति प्रदान करे|

तत् कर्म यत् न बन्धाय सा विद्या या विमुक्तये। आयासाय अपरं कर्म विद्या अन्याशिल्पनैपुणम्॥
तत् कर्म (कर्म वह है) यत् न बन्धाय (जो बंधन में न डाले) सा विद्या या विमुक्तये (विद्या वह है जो मुक्त कर दे)। आयासाय अपरं कर्म (अन्य कर्म केवल श्रम मात्र हैं) विद्या अन्याशिल्पनैपुणम् (अन्य विद्याएँ केवल यांत्रिक निपुणता हैं)॥

विष्णुपुराण 1)

1)
reference needed